नमस्कार आपका स्वागत है

नमस्कार  आपका स्वागत है
नमस्कार आपका स्वागत है

Sunday, March 4, 2012

हार्मनी ....और....मेलोडी

हार्मनी :  दो या दो से अधिक स्वरों को एक साथ बजने से उत्पन्न मधुर भाव को हार्मनी या स्वर संवाद कहते हैं ।उदाहरण के लिए सा,ग,प या ... सां स्वरों को एक साथ बजने से हार्मनी की रचना होगी।पाश्चात्य संगीत हार्मनी पर ही आधारित है ।


मेलोडी :  स्वरों के क्रमिक उच्चारण या वादन को मेलोडी कहा गया है ।जैसे सा,ग,प आदि एक दुसरे के बाद गाये  बजाये जाएँ तो मेलोडी किन्तु यदि इन्हें एक साथ बजाय जाये तो सम्मिलित स्वर हार्मनी कहलायेंगे ।हमारी हिन्दुस्तानी संगीत मेलोडी प्रधान है क्योंकि क्रमिक स्वर उच्चारण इसकी विशेषता है ।
  • मेलोडी व्यक्ति की आतंरिक भावनाओं को और हार्मनी बाह्य वातावरण को व्यक्त करने में सफल होती है । 
  • व्यक्तिगत भावों के लिए मेलोडी और सामूहिक भाव प्रदर्शन के लिए हार्मनी उपयुक्त है ।जैसे -एक व्यक्ति जब अपनी माँ से विदा मांग रहा है तो उसके मनोभावों को व्यक्त करने के लिए मेलोडी उपयुक्त होगी ।किन्तु एक सुंदर दृश्य जैसे -नदी का किनारा ,पक्षियों का कलरव ,डूबता सूर्य,दूर से आती हुई संगीत-ध्वनी आदि को व्यक्त करने में हार्मनी उपयुक्त होगी ।

14 comments:

  1. इसी बहाने संगीत शिक्षा मिल रही है, अब औपचारिक ढंग से सीखना है, संभवतः सीख जाऊँगा..

    ReplyDelete
    Replies
    1. प्रवीन जी ...जान कर बहुत ख़ुशी हुई आप संगीत सीखने का मन बना रहे हैं ..!!आपकी आवाज़ में सुर हैं आप जल्दी ही सीख जायेंगे ...!!

      Delete
  2. एक अमेरिकन रेडियो स्टेशन पर भारतीय संगीत की बात चलने पर इस अंतर के बारे में पहली बार सुना था लेकिन बात अब स्पष्ट हुई, आभार!

    ReplyDelete
    Replies
    1. आलेख आप समझ सके ..अच्छा लगा जान कर |

      Delete
  3. वाह बहुत सुन्दर जानकारी दी है आपने ,इससे मीठा कुछ नहीं ,आपकी आभारी हूँ

    ReplyDelete
    Replies
    1. शुक्रिया ज्योति जी ...

      Delete
  4. इस बार की कलास में इस सूक्ष्म अंतर को समझ पाया।

    ReplyDelete
    Replies
    1. संगीत रचने में और उपशास्त्रीय गायन में भी ये अंतर बहुत काम आता है ...बल्कि दोनों का प्रयोग किया जाता है ...!!

      Delete
  5. सुन्दर प्रस्तुति....बहुत बहुत बधाई...होली की शुभकामनाएं....

    ReplyDelete
  6. कितना अच्छा लिखतीं हैं आप आपकी लेखनी को बधाई सदा इसी तरह सार्थकता बयाँ करती रहे, .होली की शुभकामनाएं....|

    ReplyDelete
  7. इस तरह की जानकारी आम जनता तक पहुँचाने का आपका ये प्रयास अच्छा लगा।

    ReplyDelete